Yeeshu mere praan ke meet Lyrics /यीशु मेरे प्राण के मीत

Yeeshu mere praan ke meet Lyrics | यीशु मेरे प्राण के मीत | Hindi Christian Song Lyrics

Yeeshu mere praan ke meet
jab tak jag mein rahata hoon
duhkh nirantar aate hain
teree sharan aata hoon
jab tak aandhee chalatee ho
mujh ko apane mein chhipa
ant mein meree aatma ko
apane paas vishraam dila

aur koee sharan nahin
praanon ka too hee aadhaar
mujh ko too kabhee na chhod
de sahaara le ubaar
tujh par hee mera vishvaas
too hee ek sahaayak hai
apane pankhon mein chhupa
main nirbal too balavant hai

keval tujh ko chaahata hoon
tujh mein hee sab paaya hai
main patit thukaraaya hoon
too hee shuddh kar sakata hai
naam tera pavitr hai
main nira adharmee hoon
too anugrah saagar hai
main paapon se ghira hoon

mere paap ko dhaanpane ka
too anugrah saagar hai
nirmal dhaara bahane de
jisase man shuddh hota hai
too hee sota jeevan ka
mere hraday mein too bah
ki kabhee na pyaas lage
too sada yoon bahata rah

यीशु मेरे प्राण के मीत
जब तक जग में रहता हूँ
दुःख निरंतर आते हैं
तेरी शरण आता हूँ
जब तक आँधी चलती हो
मुझ को अपने में छिपा
अंत में मेरी आत्मा को
अपने पास विश्राम दिला

और कोई शरण नहीं
प्राणों का तू ही आधार
मुझ को तू कभी न छोड़
दे सहारा ले उबार
तुझ पर ही मेरा विश्वास
तू ही एक सहायक है
अपने पंखों में छुपा
मैं निर्बल तू बलवंत है

केवल तुझ को चाहता हूँ
तुझ में ही सब पाया है
मैं पतित ठुकराया हूँ
तू ही शुद्ध कर सकता है
नाम तेरा पवित्र है
मैं निरा अधर्मी हूँ
तू अनुग्रह सागर है
मैं पापों से घिरा हूँ

मेरे पाप को ढाँपने का
तू अनुग्रह सागर है
निर्मल धारा बहने दे
जिससे मन शुद्ध होता है
तू ही सोता जीवन का
मेरे ह्रदय में तू बह
कि कभी न प्यास लगे
तू सदा यूँ बहता रह

Leave a Comment