yah jindagee hai ek samundar ka safar / यह जिन्दगी है एक समुन्दर का सफ़र

yah jindagee hai ek samundar ka safar Lyrics |यह जिन्दगी है एक समुन्दर का सफ़र
| Hindi Christian Song Lyrics

yah jindagee hai ek samundar ka safar
aur laharon mein se hokar yah gujaratee
posheeda chattaanen aur anajaane bhanvar
par kishtee ka maanjhee hai pyaara maseeh

main sahee salaamat ghar apane pahuchoonga
jab yeeshu ke haath mein kishtee kee patavaar
aur safar ka ranj main aasamaan mein bhooloonga
jab yeeshu khudaavand lagaayega paar

andhera hai chaugird aur gherata hai kuhara
par usake kalaam se milata mujhe noor
tab saaree taareekee aur safar ka khatara
sab usakee aavaaz se ho jaata hai door

dekh laharen ab uthatee aur aandhiyaan chalatee
par bandar nazadeek hai jald pahunchuga ghar
tab aman ho jaega jab maujen thamengee
aur khatam yah hoga hamaara safar

यह जिन्दगी है एक समुन्दर का सफ़र
और लहरों में से होकर यह गुजरती
पोशीदा चट्टानें और अनजाने भंवर
पर किश्ती का मांझी है प्यारा मसीह

मैं सही सलामत घर अपने पहुचूँगा
जब यीशु के हाथ में किश्ती की पतवार
और सफ़र का रंज मैं आसमान में भूलूंगा
जब यीशु खुदावन्द लगायेगा पार

अन्धेरा है चौगिर्द और घेरता है कुहरा
पर उसके कलाम से मिलता मुझे नूर
तब सारी तारीकी और सफ़र का ख़तरा
सब उसकी आवाज़ से हो जाता है दूर

देख लहरें अब उठती और आँधियाँ चलती
पर बन्दर नज़दीक है जल्द पहुँचुगा घर
तब अमन हो जाएगा जब मौजें थमेन्गी
और ख़तम यह होगा हमारा सफ़र

Leave a Comment